सर्च

विहिप ने गौहत्या व गौ-तस्करी के विरुद्ध की कठोर कार्यवाही की मांग


नई दिल्ली- देश में गौ तस्करी व गौ हत्याओं की बढ़ती घटनाओं को लेकर विश्व हिन्दू परिषद के केंद्रीय महामंत्री मिलिंद परांडे ने चिंता व्यक्त की और इसे रोकने के लिए उन्होंने राज्य सरकारों और पुलिस प्रशासन से इन घटनाओ पर कठोर कार्यवाही करने की मांग की और भविष्य में ऐसी घटनाये न घटित हो इसके लिए राज्य सरकारें और पुलिस प्रशासन को संवेदनशील और उचित क़दम उठाने की सलाह दी।

विहिप (VHP) के महामंत्री मिलिंद परांडे ने हाल ही में उड़ीसा के बालेश्वर, गुजरात के वडोदरा, भारुच, वलसाड और महाराष्ट्र के अमरावती सहित देश के विभिन्न हिस्सों में बकरीद से ठीक पहले बढ़ी गौ-तस्करी की घटनाओं का ज़िक्र करते हुए कहा कि यहाँ गौ तस्करी की घटनाये वो है जिनमे विश्व हिन्दू परिषद और बजरंगदल कार्यकर्ताओं के साथ-साथ अन्य गौ-रक्षकों की मदद से गौवंश को बचाकर ये गौ-तस्करी की घटनाये प्रकाश में लायी गयी, लेकिन इसके बावजूद भी देश के अलग-अलग हिस्सों से गौ-तस्करी की घटनाये आये दिन सामने आती रहती है।

मिलिंद परांडे ने कहा कि गौहत्या रोधी कानून और पुलिस प्रशासन के लचर रवैये की वज़ह से गौहत्यारे व गौ तस्कर देश के कुछ राज्यों में सक्रिय है और इसी वज़ह से गौ रक्षकों को अपनी जान की परवाह किये बगैर सड़कों पर उतरना पड़ता है जो बेहद चिन्ता का विषय है।

विहिप (VHP) के महामंत्री ने हिन्दू समाज को गौरक्षा के लिए प्रतिबद्ध बताते हुए कहा कि हम किसी भी क़ीमत पर गौहत्या व गौ तस्करी नहीं होने देंगे।

विहिप (VHP) ने सभी राज्य सरकारों और पुलिस प्रशासन से मांग की है कि गौहत्यारों व गौ तस्करों के विरुद्ध कठोरता से कार्यवाही की जाए जिससे गौ रक्षकों को मजबूरीवश सड़कों पर न उतरना पड़े और बकरीद के अवसर पर जानवरो को लाने-लेजाने में जो ढील दी जाती है वह भी न दी जाए।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ