बरेली नवाबगंज के पूर्व भाजपा विधायक केसर सिंह गंगवार के बेटे विशाल गिरफ्तार, काम नहीं आई सत्ता की हनक और धौंस




बरेली से संवादाता डॉक्टर मुदित प्रताप सिंह की रिपोर्ट

जनपद बरेली _  नवाबगंज के पूर्व भाजपा विधायक केसर सिंह गंगवार के पुत्र विशाल गंगवार को पुलिस के साथ रौब और हेकड़ी दिखाना महंगा पड़ गया, सरकारी जमीन कब जाने के एक मामले में पिछले दिनों कब्जा छुड़ाने गई बरेली विकास प्राधिकरण की टीम को दी थी धमकी।             

सोमवार देर रात एक बजे विशाल गंगवार को पुलिस ने दो माह पुराने एक मामले मे पुलिस के साथ धौंस दिखाने को लेकर गिरफ्तार कर लिया, जानकारी के अनुसार आठ जुलाई को बरेली विकास प्राधिकरण (बीडीए) ने नवाबगंज के पूर्व विधायक केसर सिंह गंगवार के पुत्र विशाल गंगवार के विरुद्ध थाना इज्जतनगर मे बलवा सहित विभिन्न धाराओं मे मुकदमा दर्ज कराया था, तब से ही पूर्व विधायक के पुत्र विशाल गंगवार उस मुकदमे मे अपनी हनक का फायदा उठाकर बांछित चल रहे थे, कल रात उसी मामले मे उन्हें नोटिस तामील कराने गई, इज्जतनगर पुलिस को अपनी अकड़ दिखाते हुए उन्होंने नोटिस लेने से मना कर दिया, और पुलिस  के साथ अभद्रता करने का प्रयास किया, इस पर तैश मे आई पुलिस ने भी अपने आला अधिकारियों के संज्ञान मे मामले को डालते हुए पूर्व विधायक के पुत्र पर अपना फुल एक्शन दिखाते हुए उन्हें अरेस्ट कर लिया, विशाल को सोमवार रात एक बजे के करीब गिरफ्तार किया गया है,  उनके खिलाफ बीडीए ने करीब दो माह पहले इज्जतनगर थाने मे धारा 147,353,447, 323,504 मे मुकदमा दर्ज हुआ किया गया था।पूर्व विधायक केसर सिंह बरेली के काफी कद्दावर नेता माने जाते थे, और पिछले साल ही कोरोना से उनका देहांत हुआ था, निधन के समय केसर सिंह बरेली की नवाबगंज से सिटिंग विधायक थे, लेकिन इस बार भाजपा ने उनके बेटे की जगह डा.एमपी आर्य को नबावगंज से मैदान मे उतारा था, और एमपी आर्य यह सीट जीतकर विधायक बने हैं, इस मामले मे 13 जुलाई को अपनी सरकारी संपत्ति से कब्जा छुड़ाने गई टीम को विशाल द्वारा सत्ता की हनक दिखाते हुए और दो चार लाशें गिराने की धौंस और धमकी दिखाने से संबंधित एक वीडियो भी वायरल हुआ था।





एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ