सर्च

कहो तो कह दूँ लेबल वाली पोस्ट दिखाई जा रही हैंसभी दिखाएं
लोग बाग़ चाहते हैं मंहगाई पर "जवानी" न आये वो "बच्ची" ही बनी रहे।
ये फंगस नेताओं के "ट्रेंड" को ही तो "फॉलो" कर रहा है
'आंसुओं' में बहुत ताकत होती हैं 'हुजूरे आला' समझ गए न
'नई बहू' के सामने  'पुरानी बहू' की 'बखत' बचती कँहा हैं
कोरोना जाए भाड़ में, झूम बराबर झूम शराबी